Health care,health care in hindi,hair care,haire care in hindi,beauty care, beauty tips,beauty tips in hindi,

blvhealth

LightBlog

Latest

Labels

शनिवार, 22 दिसंबर 2018

Benefits of tulasi for health / तुलसी के फायदे

तुलसी के फायदे / Benefits of tulasi 


तुलसी एक प्रशिद्ध पौधा है, जो बहुत ही पवित्र माना गया है ।
आयुर्वेद के क्षेत्र में तुलसी का बहुत ही बड़ा महत्व है । तुलसी सर्दी - जुखाम से लेकर बड़ी और भयंकर बीमारियों में एक कारगर औषधि है ।


अधिकतर हिन्दू परिवारों में तुलसी की पूजा की जाती है ,तुलसी के पौधे को सुख और कल्याण का देवतक माना जाता है ।अगर हम स्वाथ्य के लिहाज से देखे तो तुलसी के पूरे पौधे का हर एक भाग चाहे पत्ती हो, बीज हो,या जड़ हो,मनुष्य जाति के लिए लाभकारी होता है।
आमतौर पर जो हमारे घरों में तुलसी मिलती है , वह दो प्रकार की होती है । एक जिसकी पत्तियों का रंग थोड़ा गहरा होता जिसे श्याम तुलसी कहते है , और दूसरी जिसकी पत्तियों का रंग हल्का होता है उसे राम तुलसी कहते है ।

आइये जानते है कि तुलसी का प्रयोग करके किस तरह से हम बड़े से बड़े रोगों को अलविदा कह सकते है - 


1 - सर्दी - जुखाम में -




अगर आप को सर्दी खांसी या फिर हल्का बुखार है तो आप मिश्री , काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को पानी मे डाल कर इतना पकाये की जितना आप ने पानी लिया था वह आधा हो जाये , उसके बाद उसे चाय की तरह धीरे - धीरे पी लीजिये सर्दी खांसी हल्की बुखार की समस्या दूर हो जायेगी।
इसे किसी भी उम्र का ब्यक्ति उपयोग में ला सकता है ।

2 - रतौधी में 

जैसा कि आप जानते है कि रतौधी एक ऐसी बीमारी है जिसमे रात में आप को देखने मे समस्या होती है , इसके उपाय के लिए आप तुलसी के पत्त्ते का रस दिन में 3 - 4 बार आखो में डाले, लगभग एक हप्ते में समस्या दूर हो जायेगी।

3 -  चोट लग जाने पर - 

Benefits of tulasi for health / तुलसी के फायदे
Benefits of basil


चोट लग जाने पर तुलसी के पत्ते को फिटकरी के साथ मिलाकर लगाने से घाव बहुत ही जल्दी ठीक हो जाता है ।क्योकि तुलसी के पत्ते में एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते है , जो घाव को पकने नही देते। जिससे घाव जल्दी भर जाता है ।

अक्सर महिलाओं को पीरियड्स में अनियमितता की समस्या हो जाती है , ऐसे में लुलसी के बीज का प्रयोग बहुत ही कारगर साबित हो सकता है । इस समस्या को दूर करने के लिये महिलये तुलसी के पत्तो का भी नियमित रूप से प्रयोग कर सकती है ।

5 - चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए -


त्वचा सम्बन्धी रोगों के लिए भी तुलसी बहुत ही कारगर औषधि है , तुलसी का उपयोग करने से कील - मुहांसे खत्म हो जाते है और चेहरा भी साफ हो जाता है ।

6 - दस्त होने पर -


अगर आप को बार - बार दस्त आ रहा है तो तुलसी के पत्ते आप के लिये काफी कारगर साबित हो सकते है , 10 - 12 तुलसी के पत्ते ले कर ,एक टी स्पून से आधा चम्मच जीरा ले कर  दोनो को मिला कर पीस ले , मात्र दिन में 3 - 4 बार सेवन करने से आप का दस्त रूक जाएगा ।

7 - गर्भावस्था में तुलसी का सेवन करने से लाभ -


Benefits of tulasi for health / तुलसी के फायदे
Benefits of tulasi 


तुलसी की पत्तियों में हिलींग क्वालिटी के साथ - साथ एंटी-बैक्टीरियल,एंटी - वायरल और एन्टी - फंगल गुड़ मौदूद है ।जो गर्भवती महिला को कई परेशानियों से दूर रखते है ।
अगर गर्भवती महिला तुलसी के पत्तियों का सेवन करती है तो किसी भी प्रकार के संक्रमण का खतरा नही रहता है ।

अधिकतर महिलाओ को प्रेग्नेंसी के दौरान खून की कमी हो जाती है, जिसे हम एनीमिया भी कहते है । ऐसी स्थिति में अगर 2 पत्ती का सेवन रोज किया जाए तो खून की कमी दूर हो जाती है ।

तिलसी में मिटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है ,जो बच्चे के विकास के बहुत ही जरूरी है , अतः रोज तुलसी के पत्तियों का सेवन करे ।

तुलसी की पत्तियों में मैग्नीशियम भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत रखने में बहुत ही कारगर होता है ।

तुलसी के पत्ते का प्रति दिन सेवन करने सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है , जिससे किसी प्रकार की बीमारी बच्चे या मां के पास नही आती है ।

8- चिकनगुनिया होने पर तुलसी का प्रयोग


चिकनगुनिया मच्छरों के फैलने वाला एक ऐसा बुखार है  जो मनुष्य के शरीर के समस्त जोड़ो को नुकसान पहुचाता है , कई बार तो इस बीमारी से लोगो की जान भी चली जाती है ,लेकिन दोस्तो इस चमत्कारी घरेलू दवा से आप चिकनगुनिया का इलाज कर सकते है।



ज्यादा तर लोग चिकनगुनिया होनो पर एलोपैथी दवाओं का प्रयोग करते है ,लेकिन एलोपैथी दावा से खास कर के चिकनगुनिया जैसी बीमारियों में फायदा कम नुकसान ज्यादा होता है , कई बार तो मुह में छाले हो जाये है और पेट मे अल्सर होने की संभावना भी बढ़ जाती है ।



चिकनगुनिया में तुलसी का प्रयोग अमृत के समान है । नीम की गिलोय , सोंठ, छोटी पीपर और गुड़ के साथ तुलसी का काढ़ा बना ले , और इस दवा को दिन में मात्र 3 खुराक लेने से आप को चिकनगुनिया से छुटकारा मिल सकता है ।


9 - तनाव कम करने में - 


सेंट्रल ड्रग रिसर्च इंस्टीट्यूट लखनऊ , में एक शोध में यह पाया गया है कि तुलसी की पत्तियों में एक कोर्टिसोल नामक एक ऐसा तत्व पाया जाता है , जो तनाव को कम करने में काफी मदद करते है । अगर आप हर सुबह तुलसी की 10 से 12 पत्तियां खाते है तो आप को तनाव से छुटकारा मिल जायेगा।

10 - कैंसर के खतरे को कम करने में  





कैंसर जैसी घातक बीमारी को भी कम करने क्षमता तुलसी की पत्तियों में होती है , क्यो की तुलसी में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी कार्सिनोजेनिक गुण पाये जाते है , जो कैंसर के प्रभाव को काफी हद तक कम कर देते है ।


11 - सांस की बदबू को दूर करने में 


अगर आप के मुंह से बदबू आ रही है तो तुलसी के कुछ पत्ते चबा ले मुंह की बदबू दूर हो जाएगी ।

12 - त्वचा रोग को ठीक करने में 


आप को किसी भी तरह से त्वचा रोग  जैसे खुजली , दाद और त्वचा की अन्य समस्याओं में , तुलसी के पत्तो का रस निकाल कर के प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में आराम मिल जाता है ।
अगर आप के चेहरे पर मुहांसे है तो तुलसी के पत्ते का रस निकाल कर चेहरे पर अच्छी तरह से लगा कर सो जाओ और सुबह पानी से अच्छी तरह से साफ कर ले , ऐसा आप 2 से 3 हप्ते तक कर लेते है तो इस समस्या से आप छुटकारा पा जांयेंगे।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें